Do you have a passion for writing?Join Ayra as a Writertoday and start earning.

प्रेम

प्रेम हो तो दूध में मक्खन जैसा

ProfileImg
05 Jun '24
1 min read


image

                           " प्रेम "

      चाहे प्रेम कला और संस्कृति की हो,
      चाहे प्रेम मानव और प्रकृति की हो,
      प्रेम हो तो सोना में सुहागा जैसा।

                       चाहे प्रेम श्रद्धा और भक्ति की हो,
                       चाहे प्रेम मौज और मस्ती की हो,
                       प्रेम हो तो दूध में मक्खन जैसा।
 
     चाहे प्रेम कलम और किताब की हो,
     चाहे प्रेम दिल और दिमाग की हो,
     प्रेम हो तो फूलों में गुलाब जैसा।

                       चाहे प्रेम फूल और माली की हो,
                       चाहे प्रेम जीजा और साली की हो,
                       प्रेम हो तो फूलों में भौंरा जैसा।
 

Category:Poem


ProfileImg

Written by Teju Singh Gond

Village Rausarkhar Post-Lamsarai Tahsil-pushparajgarh District Anuppur MP pin 484881, mo-7999611513 9669366225